• Thu. Feb 22nd, 2024

The uk pedia

We Belive in Trust 🙏

केदारनाथ यात्रा: कंडी मे बैठा था बच्चा, अचानक टूटी कंडी, 200 मीटर गहरी खाई में गिर गया बच्चा – मौत

Jul 3, 2022
Spread the love

रुद्रप्रयाग। केदारनाथ पैदल मार्ग में लिंचौली के पास कंडी से गिरकर एक बच्चे की मौत हो गई। बताया जा रहा है कि यह बच्चा एक नेपाली मजदूर द्वारा कंडी से केदारनाथ ले जाया जा रहा था किंतु रास्ते में कंडी से बच्चा 200 मीटर गहरी खाई में गिर गया। घटना के बाद से मजदूर मौके से फरार हो गया। पुलिस ने मामले में सोनप्रयाग कोतवाली में नेपाली मजदूर के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर दिया है जबकि उसकी खोजबीन की जा रही है।

लिंचौली के पास 200 मीटर नीचे गहरी खाई में गिरा बच्चा

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार बीते दो दिन पहले आगरा का एक परिवार केदारनाथ यात्रा के लिए आया था। पति, पत्नी के साथ दो बच्चे भी साथ में चल रहे थे। गौरीकुंड से वह लोग घोड़े से चले और भीमबली में सभी उतर गए। इस बीच पैदल चलते हुए 5 साल के शिवा गुप्ता निवासी आगरा ने रोते हुए चलने में असमर्थता जताई। इस बीच उसके माता-पिता ने बेटे को एक नेपाली मजदूर की कंडी पर सवार कर दिया और अपने आप पैदल चलने लगे। बताया जा रहा है कि बड़ी लिंचौली के पास कंडी से बच्चा 200 मीटर नीचे गहरी खाई में गिर गया जिससे उसकी मौत हो गई। नेपाली मजदूर की लापरवाही से बच्चे के खाई में गिरने की चर्चाएं भी की जा रही है। वहीं घटना के बाद कंडी संचालक नेपाली मजदूर फरार हो गया है। बच्चे के माता-पिता को रास्ते से कुछ लोगों द्वारा बच्चे के गिरने की सूचना मिली। तभी आनन-फानन में लिंचौली पहुंचते ही माता-पिता ने पुलिस को मामला बताया और बच्चे की तलाश शुरू की गई।पुलिस और एसडीआरएफ ने खोजबीन करते हुए लिंचौली के पास 200 मीटर नीचे गहरी खाई से बच्चे के शव को बरामद किया। माता-पिता के पास नेपाली मजदूर की कोई पहचान नहीं थी जिससे पुलिस को उक्त मजदूर की पहचान करना मुश्किल हो रहा है। पुलिस अधीक्षक आयुष अग्रवाल ने बताया कि बीते दो दिन पहले लिंचौली के पास आगरा निवासी शिवा गुप्ता की कंडी से गिरकर मौत हुई है। पुलिस ने सोनप्रयाग कोतवाली में नेपाली मजदूर के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर दिया है जबकि उसकी तलाश की जा रही है। मजदूर कौन था कोई ठोस पहचान नहीं है किंतु बच्चे के माता-पिता द्वारा दिए गए होलिए के आधार पर पुलिस तलाश कर रही है।

आईडी और फोटो जरूर लें-
पुलिस ने केदारनाथ की यात्रा पर आए तीर्थयात्रियों से अपील की है कि जब भी वह स्वयं या परिवार के किसी भी सदस्य को घोड़े-खच्चर या डंडी-कंडी में बैठाते हैं तो इससे पहले संबंधित मजदूर, हॉकर और डंडी कंडी संचालक की आईडी और फोटो जरूर लें। ताकि किसी भी परेशानी पर आसानी से उस तक पहुंचा जा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page