• Tue. Mar 5th, 2024

The uk pedia

We Belive in Trust 🙏

दैनिक आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए चोरी की घटनाओं को अंजाम देता था ये नाई, श्रीनगर पुलिस ने 24 घंटे में किया गिरफ्तार, भेजा सलाखों के पीछे

Feb 23, 2023
दैनिक आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए चोरी की घटनाओं को अंजाम देता था ये नाई, श्रीनगर पुलिस ने 24 घंटे में किया गिरफ्तार, भेजा सलाखों के पीछेदैनिक आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए चोरी की घटनाओं को अंजाम देता था ये नाई, श्रीनगर पुलिस ने 24 घंटे में किया गिरफ्तार, भेजा सलाखों के पीछे
Spread the love

श्रीनगर गढ़वाल। नगर क्षेत्र में चोरी की घटना को अंजाम देने वाले युवक को श्रीनगर पुलिस ने 24 घंटे के अंदर गिरफ्तार कर लिया है। श्रीनगर पुलिस ने आरोपी को बढ़ापुर बिजनौर उत्तरप्रदेश से गिरफ्तार किया है। उक्त युवक नगर क्षेत्र में नाई का काम करता था।

प्राप्त जानकारी के अनुसार 20 फरवरी को श्रीकोट निवासी सोबन सिंह मेहता ने कोतवाली श्रीनगर में अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ रिर्पोट दर्ज कराई। सोबन सिंह मेहता ने बताया कि किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा 17 फरवरी को उनकी दुकान मेहता डेली नीड्स का ताला तोडकर 5,000 की नगदी, सिगरेट के पैकेट, पर्स तथा ड्राईविंग लाइसेन्स आदि चोरी कर लिया गया है।

कोतवाली में एफआईआर दर्ज होने के बाद पुलिस ने त्वरित कार्यवाही करते हुए जॉच शुरू कर दी, और 24 घंटे के भीतर चोर को गिरफ्तार कर लिया। श्रीनगर पुलिस ने 21 फरवरी को घटना में संलिप्त मौ0 फरमान को चोरी की गयी नगदी 2,970 व चोरी के सामान के साथ बढ़ापुर (उ0प्र0) से गिरफ्तार कर मामले का खुलासा किया गया। गिरफ्तार युवक से जब चोरी की वजह पूछी गई तो पूछताछ में उसने बताया कि वह श्रीनगर के श्रीकोट क्षेत्र में नाई की दुकान चलाता है। तथा अपनी दैनिक आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए चोरी की घटनाओं को अंजाम देता है।

प्रभारी निरीक्षक श्रीनगर रवि सैनी ने बताया कि गिरफ्तारशुदा अभियुक्त को न्यायालय के समक्ष पेश कर आवश्यक वैधानिक कार्यवाही की गयी है। साथ ही गिरफ्तार युवक के अन्य आपराधिक इतिहास की जानकारी भी ली जा रही है।
गिरफ्तार करने वाली टीम में रवि कुमार सैनी प्रभारी निरीक्षक श्रीनगर, उपनिरीक्षक लक्ष्मण सिंह कुंवर, आरक्षी ना0पु0 संजय कुमार, मुख्य आरक्षी शशिकान्त (सीआईयू), आरक्षी हरीश कुमार (सीआईयू) शामिल रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page